Connect with us

Finance

क्रेडिट कार्ड क्या होता है और कैसे काम करता हैं – What is Credit Card in Hindi

Published

on

क्रेडिट कार्ड क्या होता है

अगर आपके बैंक खाते में कभी बडी़ धनराशी का लेनदेन हुआ है तो कभी ना कभी आपके पास क्रेडिट कार्ड के लिए फोन जरुर आया होगा! तो आखिर ये क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

तो दोस्तों इसिलीए आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की, क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं? ये कैसे काम करता हैं? क्रेडिट कार्ड कंपनियां पैसा कैसे कमाती हैं? और सबसे महत्वपूर्ण बात, क्या आपको क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना चाहिए? फायदे और नुकसान क्या हैं? चलिए जानते हैं.

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

क्रेडिट कार्ड एक कार्ड है जो आपको तुरंत चीजों को खरीदने में मदद करता है. लेकिन आप बाद में उनके लिए भुगतान कर सकते हैं. आम तौर पर महीने के अंत में.

तुरंत चीजों को खरीदने के लिए आप डेबिट कार्ड का भी उपयोग कर सकते है. लेकीन ये सीधा आपके बैंक खाते से जुड़ा होता है. जब आप अपने डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान करते हैं, तो पैसा सीधे आपके बैंक खाते से काट लिया जाता है और दूसरे पक्ष को हस्तांतरित कर दिया जाता है.

लेकिन क्रेडिट कार्ड में बैंक आपकी ओर से भुगतान करता है. जिसे आप भुगतान करने की कोशिश कर रहे हैं. और फिर महीने के अंत में आप उस महीने के सभी खर्चों को बैंक को चुकाते हैं. बैंक के पैसे चुकाने में आपको एक महीने से अधिक समय लग सकता है. फिर बैंक उच्च ब्याज लेगा लोन के समान. तो आप क्रेडिट कार्ड को एक प्रकार का ‘मिनी लोन’ समझ सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड क्या होता है

आम तौर पर जब आप ऋण लेते हैं, तो आप चाहें तो इसे नकद में प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन यहां ऋण के बजाय बैंक आपको एक प्लास्टिक कार्ड दे रहा है. अपने नाम और उस पर एक अद्वितीय संख्या के साथ, ताकि कार्ड को विशिष्ट रूप से पहचाना जा सके. साथ ही Expiry Date भी अंकित होती है!

क्रेडिट कार्ड से भुगतान कैसे किया जाता है?

Visa और मास्टरकार्ड भुगतान प्रसंस्करण कंपनियां हैं. ये दोनों सबसे लोकप्रिय कंपनियां हैं. ये मूल रूप से क्रेडिट कार्ड लेनदेन की सुविधा के लिए बैक-एंड बुनियादी ढांचा प्रदान करते हैं. आपको क्रेडिट कार्ड जारी करने वाला बैंक, वीज़ा और मास्टरकार्ड से अलग है।

और क्रेडिट कार्ड के दूसरी तरफ एक चुंबकीय पट्टी है. साथ ही सीवीवी नंबर. इसे सुरक्षित और गुप्त रखना बहुत महत्वपूर्ण है. अन्यथा, आप धोखाधड़ी का शिकार हो सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड सीमा कैसे तय की जाती है?

बैंक आपके वेतन और क्रेडिट स्कोर की जाँच करता है. और इनके आधार पर आपकी क्रेडिट सीमा तय करता है. यदि बैंक को आश्वासन दिया जाता है कि आपका वेतन पर्याप्त है कि आप बैंक को वापस भुगतान कर सकते हैं तो बैंक आप पर अधिक भरोसा करेगा. और आपको एक उच्च क्रेडिट सीमा मिलती है.

हर क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट सीमा होती है. यदि सीमा 30,000 पर सेट है तो आप उस क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके 30,000 से अधिक खर्च नहीं कर सकते.

क्रेडिट स्कोर क्या है?

बैंकिंग क्षेत्र ने अपनी ग्रेडिंग प्रणाली बनाई है. यह आपको 300 से 900 तक ग्रेड स्कोर देता है. जिसे क्रेडिट स्कोर कहा जाता है.

क्रेडिट स्कोर भी एक दिलचस्प अवधारणा है. यदि आप समय पर क्रेडिट कार्ड से भुगतान और ऋण चुकता नहीं करते हैं, तो बैंक यह सोचेगा कि आपको पैसा देना काफी जोखिम भरा होगा.

यदि आपका क्रेडिट स्कोर 750 और 900 के बीच है, तो यह एक उत्कृष्ट क्रेडिट स्कोर है. इसका मतलब है कि बैंक आप पर भरोसा कर सकता है और जोखिम बहुत कम है. लेकिन अगर आपका स्कोर लगभग 300-400 है, तो बैंक आप पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं कर सकता है.

आपके क्रेडिट स्कोर की गणना आपके पिछले ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर की जाती है. और उस आधार पर बैंक तय करता है कि आपकी क्रेडिट सीमा उच्च या निम्न होनी चाहिए.

क्रेडिट कार्ड के क्या लाभ है?

यदि आप तुरंत कुछ खरीदना चाहते हैं, लेकिन आप महीने के अंत में इसके लिए भुगतान करना चाहते हैं, तो आपके लिए क्रेडिट कार्ड लाभदायक हो सकता है. इसके अलावा भी कुछ फायदे है जैसे:

1# धोखाधडी़ का जोखिम नहीं रहता

डेबिट कार्ड का उपयोग करने की तुलना में क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना कम जोखिम भरा है. यदि आप धोखाधड़ी का शिकार होते है तो डेबिट कार्ड के मामले में पैसा सीधे आपके बैंक खाते से काट लिया जाएगा.

लेकिन क्रेडिट कार्ड के मामले में आपका बैंक या क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता आपकी ओर से भुगतान करेगा. और अगर कोई धोखाधड़ी हुई है, तो वे इसकी जांच करेंगे और आपके पैसे वापस पा लेंगे.

भारत में यदि आपके क्रेडिट कार्ड के साथ कोई धोखाधड़ी होती है और यदि ग्राहक 3 दिनों के भीतर धोखाधड़ी की रिपोर्ट करता हैं, तो ग्राहक यानी क्रेडिट कार्ड होल्डर का दायित्व शून्य है. इसलिए भुगतान करने का जोखिम बैंक द्वारा वहन किया जाता है.

2# क्रेडिट कार्ड इनाम प्रणाली

दुसरा प्रमुख लाभ वह पुरस्कार है जो आपको क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने के लिए मिलता है. इनाम प्रणाली बैंक और क्रेडिट कार्ड के प्रकार के आधार पर भिन्न होती है.

कुछ क्रेडिट कार्ड में आपको कैशबैक मिल सकता है, तो कुछ में भारी छूट मिल सकती है, कुछ में आपको बीमा भी मिल सकता है. आप अपने क्रेडिट कार्ड से मुफ्त में यात्रा बीमा भी प्राप्त कर सकते हैं.

आजकल लगभग हर क्रेडिट कार्ड किसी न किसी तरह के इनाम बिंदु प्रणाली के साथ आता है. आप अंक एकत्र कर सकते हैं और फिर कुछ महंगा खरीदने के लिए उन बिंदुओं का आदान-प्रदान कर सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड के नुकसान क्या है?

यदि आप सही समय पर अपने क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान नहीं करते हैं, तो आपको भारी ब्याज देना होगा. कुछ दिनों या महीनों में वो राशि इतनी बड़ी हो सकती है कि आप चुका नहीं सकेंगे.

क्रेडिट कार्ड पर कई तरह की छिपी हुई फीस भी होती हैं. जो आपको काफी नुकसान दे सकती है

कौनसा क्रेडिट कार्ड सही है?

कौनसा क्रेडिट कार्ड सही है यह तय करने के लिए आपको तीन मुख्य चीजों को ध्यान में रखने की आवश्यकता है.

  • पहला वह बैंक है जो आपका क्रेडिट कार्ड जारी करता है. उस बैंक की इनाम बिंदु प्रणाली, बैंक द्वारा ली जाने वाली फीस और कोई छिपी हुई फीस की जानकारी जरुर लें.
  • दूसरा यह है कि बैंक द्वारा पेश किए गए क्रेडिट कार्ड में से कौन सा आप उपयोग कर रहे हैं? उच्च-स्तरीय क्रेडिट कार्ड के लिए अधिक पुरस्कार, बीमा और अंक होता हैं. लेकिन उनके पास अक्सर उच्च शुल्क भी होता है.
  • तीसरी बात यह है कि क्रेडिट कार्ड में कौन सा भुगतान नेटवर्क उपयोग किया जाता है, जैसे: वीज़ा, मास्टरकार्ड, अमेरिकन एक्सप्रेस, डिनर्स क्लब और Rupey आदी.

बैंक क्रेडिट कार्ड से पैसा कैसे कमाती हैं?

बैंकों के लिए क्रेडिट कार्ड से पैसा कमाने का सबसे सरल तरीका वार्षिक शुल्क लेना है. इसके अलावा बैंकों द्वारा कई अलग-अलग प्रकार की फीस ली जाती है.

यदि आप समय पर भुगतान नहीं कर रहे हैं, तो देरी शुल्क लिया जाएगा. यदि आप क्रेडिट कार्ड से नकदी निकालना चाहते हैं, तो अक्सर एक अतिरिक्त शुल्क 2% – 5% होता है.

लेकिन दोस्तों, आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इन बैंकों की आय का एक बड़ा हिस्सा वास्तव में लोगों की मूर्खता का परिणाम है. कई लोग महीने के अंत में अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान नहीं करते हैं. इस वजह से बैंक इस पर उच्च ब्याज दर लेते हैं. और यह ब्याज दर सालाना 30% तक बढ़ सकती है.

यदि क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने वाला प्रत्येक व्यक्ति समय पर बैंक को भुगतान करना शुरू कर देता है, तो बैंकों के लाभ का एक बड़ा हिस्सा गायब हो जाएगा. यही कारण है कि कुछ देशों में क्रेडिट कार्ड लोकप्रिय नहीं हैं.

कई यूरोपीय देशों में क्रेडिट का अधिक उपयोग नहीं किया जाता है, क्योंकि लोगों की मानसिकता ऐसी है कि वे अपने सभी भुगतान समय पर करते हैं. अगर उनके पास पैसे नहीं होते हैं तो वे कुछ भी नहीं खरीदते हैं.

भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देशों में लोगों के पास पर्याप्त पैसा ना होने पर भी चीजों को खरीदने की आदत होती है. यही कारण है कि यूरोपीय बाजारों में N26 और Revolut जैसे वैकल्पिक बैंक लोकप्रियता प्राप्त कर रहे हैं.

क्या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना चाहिए?

यदि आप क्रेडिट कार्ड के बिलों का समय पर भुगतान कर सकते हैं, तो आप इसका उपयोग कर सकते हैं. अगर आपको लगता है कि अब मेरे पास पैसे नहीं है, इसलिए मैं इसे खरीदने के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करूंगा, और मैं 30 दिनों के भीतर कहीं से पैसे की व्यवस्था करूंगा, फिर कृपया क्रेडिट कार्ड का उपयोग न करें. आप कर्ज के जाल में फंस सकते हैं.

यदि आप पुरस्कारों के कारण क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना चाहते हैं, तो स्थिति का थोड़ा मूल्यांकन करें. उस क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने के लिए आप जो विभिन्न शुल्क अदा करेंगे, अक्सर प्रसंस्करण शुल्क लगभग 2% -3% होता है, और वह इनाम जो आपको बदले में मिलेगा, क्या वे वास्तव में इसके लायक है?

यदि आपको ऑनलाइन भुगतान करने के दौरान धोखाधड़ी का खतरा हैं, तो सुरक्षित होने के लिए ऐसी स्थितियों में क्रेडिट कार्ड का उपयोग करें.

आज आपने क्या सिखा?

तो दोस्तों आज इस आर्टिकल में हमने जाना की क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं? ये कैसे काम करता हैं? क्रेडिट कार्ड कंपनियां पैसा कैसे कमाती हैं?

अगर आप क्रेडिट कार्ड का सही इस्तेमाल करते हैं, तो इन कंपनियों के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी तो हमारे लिए फायदे बढ़ेंगे और नुकसान कम होंगे.

क्रेडिट कार्ड के जरिए हम बैंक से “मिनी लोन” ले सकते हैं, जिसका इस्तेमाल हम तुरंत चीजें खरीदने के लिए कर सकते हैं. अगर हम इस मिनी लोन का भुगतान तय समय सीमा में कर देते हैं, तो हमें कोई ब्याज नहीं देना होता है.

क्रेडिट कार्ड होल्डर के क्रेडिट स्कोर के हिसाब से बैंक क्रेडिट कार्ड की लिमिट तय करता है. और बैंक क्रेडिट कार्ड की लिमिट का 20% से 40% पर्सेंट पैसा निकासी की परमिशन देता है. जैसे कि अगर आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट 1 लाख रुपए है तो आप ₹20000 से ₹40000 तक कैश निकासी कर सकते हैं.

अगर आप क्रेडिट कार्ड पर ले गए लोन का सही समय पर भुगतान कर देते हैं, तो आपसे कोई ब्याज नहीं लिया जाता है. लेकिन अगर आप तम समय सीमा में भुगतान नहीं कर पाते हैं, तो बैंक आपसे 20% से लेकर 45% तक ब्याज वसूल सकता है.

अगर किसी व्यक्ति का वेतन या इनकम अच्छी खासी और निरंतर है, तो वह क्रेडिट कार्ड ले सकता है.

1 Comment

1 Comment

  1. Syed Abid ullaha hussaini

    February 20, 2024 at 10:53 am

    I want to loan due to small kirana store to expand my business

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

prompt engineering kya hai
Technology1 week ago

Prompt Engineering क्या है और प्रॉम्प्ट इंजीनियर कैसे बनें – 10 जरुरी योग्यताएं

Govt Scheme2 weeks ago

PM Suryoday Yojana 2024: 1 करोड़ परिवारों की छतों पर लगेगा सोलर रुफ टॉप, प्रधानमंत्री सुर्योदय योजना पूरी जानकारी

Technology3 weeks ago

5G क्या है और इसे कैसे इस्तेमाल करें, जानिए इस हाइपर कनेक्टिविटी के फायदे

Earn Money Online3 weeks ago

Dollar Kamane Wala App – 18 Real डॉलर कमाने वाला ऐप

Earn Money Online3 weeks ago

YouTube Shorts से पैसे कैसे कमाए (टॉप 10 तरीके) – YouTube Shorts Fund क्या है?

dna टेस्ट कैसे होता है
Job3 weeks ago

DNA क्या होता है और DNA टेस्ट कैसे होता है

वनरक्षक कैसे बने
Job3 weeks ago

वनरक्षक कैसे बने? योग्यता, सिलेबस,फिजिकल,सैलरी | Forest Guard Kaise Bane

आईटीआई क्या होता है?
Job3 weeks ago

आईटीआई क्या होता है और कैसे की जाती है – ITI Kya hai

ब्लैक बॉक्स क्या होता है
Technology3 weeks ago

ब्लैक बॉक्स क्या होता है ये कैसे काम करता है | What is Black Box in Hindi

ISI mark क्या होता है
Finance3 weeks ago

ISI मार्क क्या होता है? पूरी जानकारी | What is ISI Mark in Hindi

Govt Scheme2 weeks ago

PM Suryoday Yojana 2024: 1 करोड़ परिवारों की छतों पर लगेगा सोलर रुफ टॉप, प्रधानमंत्री सुर्योदय योजना पूरी जानकारी

what is digital rupee in hindi
Finance4 weeks ago

What is Digital Rupee | डिजीटल रुपी क्या है? फायदे और नुकसान

what is power engineering in hindi
Technology4 weeks ago

What is Power Engineering in Hindi – पॉवर इंजीनियरिंग क्या है, Power Engineer कैसे बनें?

वनरक्षक कैसे बने
Job3 weeks ago

वनरक्षक कैसे बने? योग्यता, सिलेबस,फिजिकल,सैलरी | Forest Guard Kaise Bane

पटवारी कैसे बने
Job4 weeks ago

पटवारी कैसे बने? योग्यता, आयु सीमा, परीक्षा, सैलरी | Patwari Kaise Bane

ISI mark क्या होता है
Finance3 weeks ago

ISI मार्क क्या होता है? पूरी जानकारी | What is ISI Mark in Hindi

क्रेडिट कार्ड क्या होता है
Finance4 weeks ago

क्रेडिट कार्ड क्या होता है और कैसे काम करता हैं – What is Credit Card in Hindi

Govt Scheme4 weeks ago

पशुपालन के लिए लोन कैसे लें || Animal Husbandry Loan Apply Process

dna टेस्ट कैसे होता है
Job3 weeks ago

DNA क्या होता है और DNA टेस्ट कैसे होता है

सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में क्या अंतर है
Finance4 weeks ago

सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में क्या अंतर है, जानिए कौनसा बेहतर है

Trending